OYO Hotels का घाटा सितंबर तिमाही में कम होकर ₹333 करोड़ पर आया, IPO लॉन्च होने से पहले रेवेन्यू 24% बढ़ा

OYO Hotels के घाटे में यह कमी ऐसे समय में आई है, जब कंपनी अगले साल अपना अपना इनीशियल पब्लिक ऑफर (IPO) लाने की तैयारी कर रही है

Moneycontrol News | अपडेटेड Nov 26, 2022 पर 9:09 PM
OYO का एडजस्टेड EBITDA सितंबर तिमाही में 56 करोड़ रुपये रहा

सॉफ्टबैंक (Softbank) के निवेश वाली भारतीय होटल एग्रीगेटर ओयो होटल्स एंड होम्स प्राइवेट लिमिटेड (Oyo Hotels and Homes Pvt Ltd) के शुद्ध घाटे में मौजूदा वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के दौरान कमी आई है। कंपनी ने शनिवार 26 नवंबर को जारी एक बयान में बताया कि सितंबर तिमाही में उसका शुद्ध घाटा 333 करोड़ रुपये (करीब 40.77 अरब डॉलर) रहा, जो इसकी ठीक पिछली तिमाही में 414 करोड़ रुपये रहा था। कंपनी ने मार्केट रेगुलेटर SEBI के पास जमा नए फाइनेंशियल पेपर्स में ये जानकारी दी है।

OYO के घाटे में यह कमी ऐसे समय में आई है, जब कंपन��� शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने के लिए अपना इनीशियल पब्लिक ऑफर (IPO) लाने की तैयारी कर रही है। OYO ने बताया कि उसका एडजस्टेड EBITDA (अर्निंग बिफोर इंटरेस्ट, टैक्स, डेप्रिशिएसन और एमॉर्टाइजेशन) सितंबर तिमाही में 56 करोड़ रुपये रहा, जो इसकी ठीक पिछली तिमाही में 7 करोड़ रुपये रहा था।

OYO का रेवेन्यू पहली छमाही में 24% बढ़ा

OYO ने बताया कि मौजूदा वित्त वर्ष की पहली छमाही (अप्रैल-सितंबर 2022) के दौरान उसका रेवेन्यू में 24 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई और यह 29.05 अरब रुपये रहा। कंपनी ने तिमाही आधार पर रेवेन्यू के आंकड़े नहीं साझा किया था। इसके अलावा OYO ने बताया कि उसका मंथली रेवेन्यू प्रति होटल या ग्रॉस बुकिंग वैल्यू इस दौरान सालाना आधार पर 69% पर बढ़कर 3,48,000 करोड़ रुपये रहा है।


यह भी पढ़ें- Adar Poonawala की वाट्सऐप डीपी लगाकर 1 करोड़ की ठगी, 48 खाते सीज, 13 लाख की रिकवरी, मुख्य आरोपी अभी भी फरार

अगले साल IPO लाना चाहती है Oyo

बता दें कि ओयो होटल्स (Oyo Hotels IPO) 2023 की शुरुआत में अपना आईपीओ लाने के लिए तैयारी में जुटी है। कंपनी ने सितंबर महीने में सेबी के पास नए फाइनेंशियल पेपर दाखिल किए थे। इससे पहले, इस साल की शुरुआत में कंपनी को अपना आईपीओ स्थगित करना पड़ा था क्योंकि COVID 19 की वजह से तमाम प्रतिबंध लगे थे।

OYO का वैल्यूएशन घटा

इस बीच अक्टूबर में आई एक रिपोर्ट के मुताबिक निजी मार्केट में Oyo का वैल्यूशन गिरकर 650 करोड़ डॉलर रह गया है। पिछले कारोबार हफ्ते में प्राइवेट मार्केट में कंपनी के करीब 12.3 लाख शेयरों की बिक्री हुई जबकि इससे पहले के हफ्ते में 1.6 लाख से अधिक शेयर बिके थे। Oyo के शेयरों में यह बिकवाली सॉफ्टबैंक की एक रिपोर्ट के चलते हो रही है। यह ओयो में सबसे बड़ा निवेशक है। सूत्रों के मुताबिक सॉफ्टबैंक ने अपने बहीखाते में ओयो का वैल्यूशन 20 फीसदी घटाकर 270 करोड़ डॉलर कर दिया है।

Moneycontrol News

Moneycontrol News

First Published: Nov 26, 2022 9:09 PM

हिंदी में शेयर बाजार, Stock Tips,  न्यूजपर्सनल फाइनेंस और बिजनेस से जुड़ी खबरें सबसे पहले मनीकंट्रोल हिंदी पर पढ़ें. डेली मार्केट अपडेट के लिए Moneycontrol App  डाउनलोड करें।